काबिलियत पे शक ना करे never doubt your strength

काबिलियत पे शक ना करे never doubt your strength

काबिलियत पे शक ना करे never doubt your strength
काबिलियत पे शक ना करे never doubt your strength

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है
आज मैं आपको एक ऐसी कहानी सुनाने जा रहा हु 
जो आपको यह बताएगी की अगर आपको भी कभी लगा हो कि
 इस दुनिया मे आपकी क्या value है 

आपकी क्या काबिलियत है 

तो आपको ये कहानी पढ़नी ही चाहिए
आपका ज्यादा वक्त ना लेते हुए
अब मैं इसे शुरू कर देता हूं

एक बार एक तालाब के अंदर बीचो बीच
एक बगीचा था उस बगीचे के अंदर गुलाब का एक पौधा था और
 गुलाब के पौधे पर एक पत्ता था जो ये सोचता था कि मेरी इस दुनिया मे क्या वैल्यू है
मेरी काबिलियत क्या है
तरह तरह की बाते वो सोच रहा था
ठीक वैसे ही जैसे हम भी कभी कभी सोच लेते है


लेकिन एक दिन एक चींटी को उसने पानी मे डूबते हुए देखा
तभी उसने ये सोचा कि क्यो ना मैं इस चींटी की मदद कर दु
और उसने खुद की कुर्बानी पानी मे कूदकर लगा दी  और चींटी उसके ऊपर बैठ गयी
उसका जीवन बच गया
चींटी ने उसको धन्यवाद दिया कि आज तुम ना होते तो मेरी जान नही बचती 

बल्कि धन्यवाद तो पत्ते ने चींटी का किया कि अगर आज ये मौका
 मैं जाने देता तो खुद को और भी कमजोर समझ बैठता
इसलिए मुझे मेरी काबिलियत का एहसास करवाने के लिए शुक्रिया

यही होता है जब हमे पता लगता है कि हम किस काबिल है
दोस्तो याद रखिये
काबिलियत सभी के अंदर होती है बस
उसको पहचानने की जरूरत होती है
हमेशा खुद को कोसते रहने से हम खुद को कमजोर से कमजोर बनाते जाते है 

इसलिए लोगो की मदद करिये 

और खुशियां बांटिए क्योंकि
ये वापस लौट के आती है
उम्मीद है आप सभी को यह छोटी सी कहानी अच्छी लगी  होगी 
अगर आप और भी कहानियों को पढ़ना चाहते हो तो आप बिलकुल सही जगह पर हो
आपको यहां काफी motivational stories मिलेगी जो
आपको life में आगे बढ़ने का हौसला देगी
आपका कीमती समय देने के लिए और इस कहानी को पढ़ने के लिए दिल से
 शुक्रिया
काबिलियत पे शक ना करे never doubt your strength काबिलियत पे शक ना करे never doubt your strength Reviewed by Admin on March 14, 2020 Rating: 5

No comments:

Plz do not publish spam comment

Blog Archive

Powered by Blogger.