10 Short Hindi Moral Stories For Kids || बच्चो के लिए कहानिया

10 Short Hindi Moral Stories For Kids || बच्चो के लिए कहानिया

This Is The Best Collection Of Short And Famous Hindi Moral Stories For Kids class{1 to 10} Also Related To Panchatantra And Very Useful For Everyone
कुछ समय पहले हमे किसी ने इसी ब्लॉग पर कमेंट के माध्यम से एक सुझाव दिया था की आप बच्चो के लिए Hindi Moral Stories  क्यों नहीं डालते,हमे वो सुझाव काफी अच्छा लगा इसी वजह से हम अब से बच्चो के लिए भी कुछ न कुछ डालते रहेंगे
क्योंकि आपके सुझावों से हम इस प्लेटफार्म को ज्यादा बेहतर बना सकते है इसलिए अगर आपके पास भी कोई बेहतर सुझाव हो तो जरूर दे,काम का होगा तो जरूर अप्लाई किया जाएगा 
Top 10 Moral Stories In Hindi

1.लालच का फल Hindi Short Stories For Class 1 To 10

Hindi Moral Stories For Kids
एक बार एक गाँव मे एक भेड़िया रहता था वो बकरी का दूध बेचकर अपनी आजीविका चलाता था 
एक दिन वो अपनी बकरियों को लेकर गांव से किसी दूसरे स्थान पर चला गया और बकरियो को घास चरने के लिए वही बांध दिया 
और शांति से बैठकर सोचने लगा 

लेकिन उसको अचानक वहाँ एक गुफा दिखाई देती है वह उस गुफा की तरह जाता है तो उसका पता चलता है कि वहाँ भेड़ो का एक समूह है।
उसके मन मे लालच आ जाता है वो ये सोचता है अगर आज मैं इन बकरियो की जगह भेड़ो को लेकर जाऊ तो मेरी कमाई दोगुनी हो सकती है।
लेकिन तब तक बारिश आ चुकी थी 
लेकिन लालच के आगे इंसान नही रुकता है 
उसने बारिश की चिंता ना करते हुए घास काटना शुरू कर दिया 

और जब घास का एक गट्ठर उसने बांध लिया तो वो उस गुफा की तरफ चला गया और थोड़ी थोड़ी घास उन भेड़ो को डालने लगा 
अब उसने सोचा मेरा काम तो लगभग होने वाला है तो क्यो ना मैं
इन बकरियो की विदाई कर दू 
उसने ऐसा ही किया 
एक एक करके उसने बकरियो को खूंटे से खोल दिया धीरे धीरे सभी बकरियों का वहा से पलायन हो गया यानी कि बकरिया वहां से गायब हो चुकी थी वो गुफा  के अंदर वापस जाता है।
तब तक वर्षा रुक चुकी होती है 
वो भेड़ो को बांधने की कोशिश करता है लेकिन भेड़े धीरे धीरे करके वहाँ से दूसरी दिशा की ओर जाती हुई नजर आती है।

उसने उनको रोकने की बहुत कोशिश की 
लेकिन वो उनको नही सम्भाल पाया क्योंकि 
भेड़ो की संख्या काफी ज्यादा थी 
उसको बहुत गुस्सा आ रहा था क्योंकि अब उसकी सभी बकरिया भी छू मंतर हो चुकी थी 
वो जाती हुई भेड़ो को बोलता है कि तुमने मेरे साथ धोखा किया है मेने तुम्हारे लिए बारिश में भीगकर घास काटी और प्यार से खिलाई फिर भी तुम चली गयी

अब वो सोचने लगा कि गलती तो मेरी ही है,जो मेरे मन मे लालच आया 
काश मेने उन बकरियो को नही छोड़ा होता तो आज मेरे पास मेरी प्यारी बकरिया होती 
लालच का फल उसको मिल चुका था 
इसलिए कभी भी हमे अपनी चीजो को छोड़कर दूसरी चीजों के पीछे नही भागना चाहिए 
क्योंकि लालच के चक्कर मे हम ज्यादा पाने की इच्छा की वजह से अपना भी खो देते है।

2 कछुआ और ख़रगोश Famous Hindi Short Stories

एक बार की बात है,एक बार एक कछुआ था जो धीमी गति से चलता था। जंगल के सभी जानवर उसको चिड़ाते थे 
लेकिन एक दिन ख़रगोश उसके पास आया और बोला कि तुम इतनी धीमी गति से चलते हो अगर किसी दिन तुम्हारा मुकाबला रेस में हो जाए तो तुम कैसे जीतोगे?
ये सुनकर कछुए को गुस्सा आ गया 
उसने खरगोश को बोला कि क्यों ना?
 आज हम इसी रेस को शुरू करे 
देखते है कौन जीतता है ?
दूर जो नदी के किनारे पेड़ दिख रहा है हमे वहाँ जाना है जो पहले जाएगा वही जीत जाएगा
उनकी रेस शुरू हुई 
थोड़ी देर के बाद ख़रगोश बहुत आगे निकल चुका था 
लेकिन उसको कछुआ कही नजर नही आया उसने सोचा क्यों न थोड़ा आराम कर लिया जाए 
और वो सो गया 
अब कछुआ जो कि धीरे धीरे आ रहा था उसकी नजर खरगोश पर पड़ी उसने देखा वह तो सो रहा है 
ये देखकर कछुए ने अपनी गति बढ़ा दी और रेस को जीत लिया 
जब खरगोश उठा तो उसने देखा कि मैं तो रेस हार गया हूं 
सीख
इस Hindi Moral Stories से ये शिक्षा मिलती है कि हमे कभी अपनी काबिलियत पे अभिमान नही करना चाहिए

3 प्यासा कौवा Moral Stories In Hindi

एक बार एक कौवा बहुत प्यासा था वह पानी की तलाश में इधर उधर भटक रहा था लेकिन उसको कही भी पानी नही मिल रहा था थोड़ी देर कोशिश करने के बाद उसको एक घड़ा दिखाई दिया 
वो उसके पास जाता है 
जैसे तैसे घड़े के अंदर पानी पीने की कोशिश करता है तो घड़े में उनको पानी कम मिलता है 
वो इधर उधर से कंकड़ लाता है और घड़े के अंदर उन कंकडों को डालता है 
थोड़ी देर के बाद घड़े के अंदर का पानी ऊपर आ जाता है 
और अब कोवा मजे के साथ पानी पीता है और 
फुर्रर्ररर….. उड़ जाता है।
सीख
हमे कोशिश करते रहना चाहिए 
क्योंकि कोशिश करने वालो की हार नही होती है।

4 चालाक लोमड़ी और कौवा Short Hindi Stories For Kids

एक बार की बात है एक बार जंगल में एक लोमड़ी थी वो,रोटी की तलाश में या फिर कुछ खाने की तलाश में इधर-उधर भटक रही थी लेकिन उसको कहीं भी कुछ खाने को नहीं मिल रहा था 
वो बहुत देर तक कोशिश करती रही लेकिन उसको सफलता नहीं मिली 
वो थक हारकर एक पेड़ के नीचे बैठ जाती है तभी अचानक पेड़ पर एक कौवा आ बैठता है और वह ध्यान देती है,तो उसे दिखाई देता है कि कौवा अपनी चोच में रोटी दबाए बैठा है 

वह सोचती है कि कैसे मैं इस रोटी को खा सकती हूं?
 दिमाग लगाती है थोड़ी देर बाद वह इस निर्णय पर पहुंचती है कि वह कौवे की तारीफ करेगी और कौवा जब जवाब देगा तो उसकी चोंच से रोटी छूट जाएगी और वह रोटी को लेकर भाग जाएगी 

वो उसके पास पहुंची और कौवे से बोली कि कौवा भाई तुम कितने सुंदर दिखते हो तुम्हारी आवाज कितनी अच्छी है जंगल में जितने भी मैं उड़ने वाले पक्षियों को जानती हूं उनमें सबसे ज्यादा प्रभावशाली तुम हो 

यह सुनकर कौवा कुछ देर तक तो देखता रहा लोमडी भी सोचने लगी आखिर ये टस से मस क्यों नहीं हो रहा है बोलती है कि तुम्हारी आवाज कितनी सुरीली है मैं चाहती हूं कि तुम मुझे गाना सुनाओ मैं तुम्हारा गाना सुनने के लिए बेताब हूं

जैसे ही वह मुँह खोलता है रोटी नीचे गिर जाती है लोमड़ी रोटी उठाती है और भाग जाती है

 इस Hindi Moral Stories से सीख क्या मिलती है 
यही मिलती है कि चापलूस और चतुर लोगों से हमें बचके और संभल के रहना चाहिए 
धन्यवाद...

5 शेर और चुहा Hindi Short Stories With Pictures

एक बार की बात है,एक शेर पेड़ के नीचे आराम कर रहा था तभी अचानक उसे कुछ आभास हुआ कि कोई छोटा सा कीड़ा या जानवर उनको परेशान कर रहा है तो उसने अपने पंजे से उसको पकड़ लिया 
देखा तो एक चूहा था 

शेर ने कहा कि तुम्हारी इतनी हिम्मत कैसे हुई कि तुम मेरी मस्ती कर रहे हो 
चूहे ने माफी मांगी की मालिक मुझे माफ़ कर दो 
मैं तो खेलता खेलता इधर आ गया 

लेकिन शेर ने बोला कि नही मैं तुम्हे सबक जरूर सिखाऊंगा ताकि अगली बार तुम्हे याद रहे कि मैं कौन हु ?
चुहा बोला कि आपको कोन नही जानता आप तो जंगल के राजा है 
कृपया मुझे माफ़ कर दे मैं भी आपके कभी काम आ सकता हूं 
इतने में शेर जोर जोर से हंसने लगा और बोला इतना सा जानवर मेरे क्या काम आएगा लेकिन शेर ने उनको माफ कर दिया 

अब एक दिन एक शिकारी ने उसी शेर को जाल में फंसा लिया 
तभी वहां वो चूहा आया और जाल को कुतरने लगा 
और धीरे धीरे चूहे ने सारा जाल कुतर दिया 
और शेर को आजाद कर दिया शेर बहुत खुश था 
क्योंकि उसकी मदद उनके नए दोस्त ने की थी 
अब दोनों अच्छे दोस्त बन गए 

सीख...
हमे भी माफ करना सीखना चाहिए क्योंकि एक दिन चूहे की तरह हमारी भी कोई न कोई जरूर मदद करेगा...

6 तीन चोर Short Moral Stories In Hindi

एक बार की बात है तीन चोर थे जो साथ साथ चोरी करते थे एक दिन उन्होंने गाव के किसी बड़े सेठ के यहां चोरी की
और खूब सारा धन चुरा लिया 
और जंगल की तरफ भाग गए 
वो एक नदी के किनारे पहुंचे लेकिन उनको भूख लगी 
उनमें से एक चोर पास के दूसरे गांव में खाने का सामान लेने चला गया लेकिन उसके मन मे लालच आ गया उसने सोचा अगर मैं उनके खाने में जहर मिला दू तो सारा का सारा धन मेरा हो जाएगा और इससे मै ऐश करूँगा
लेकिन वही दूसरी तरफ बाकी के दोनों चोरो के मन मे लालच आ गया था वो भी ये चाहते थे कि अगर हम दोनों इसे मार दे तो आधा आधा धन हमे मिल जाएगा 
सभी ने अपनी अपनी तैयारियां कर ली थी 
अब जैसे ही तीसरा चोर भोजन लेकर पहुंचा तो बाकी के 2 
चोरो ने तीसरे चोर के ऊपर आक्रमण कर दिया और उसको मार दिया 
लेकिन जैसे ही वो भी भोजन करने के लिए बैठे तो वो भी मर गए 
सीख 
बुराई का अंत हमेशा बुरा बुरा ही होता है।

7 अंगूर खट्टे है Panchatantra Short Stories In Hindi With Moral

एक बार एक लोमड़ी थी वह बहुत भूखी थी 
जंगल मे भोजन की तलाश में वो भटक रही थी तभी वो थककर एक पेड़ के नीचे आराम कर रही थी तो उसकी नजर अंगूर की एक बेल पर पड़ी जो पास में लटक रही थी ये देखकर लोमड़ी के मुह में पानी आ गया लेकिन अंगूर उसकी पहुंच से दूर थे 
उसने 2 से 3 बार कोशिश की 
लेकिन वो अंगूर नही पकड़ सकी
कोशिश करके वो थक गई थी 
अब वो अपने आप से बोलने लगी कि अंगूर बहुत खट्टे है इसलिए मैंने इन अंगूरों को नही खाया
सीख
हार मानने में कोई बुराई नही है।

8 लालची कुत्ता

एक बार एक कुत्ता था उसे कहीं से खाने के लिए हड्डी का एक टुकड़ा मिल गया वो खुशी खुशी कहीं जा रहा था और उसको खाने की जगह ढूंढ रहा था 
वो जब नदी के किनारे से होकर गुजर रहा था तो उसका ध्यान पानी मे अपनी खुद की परछाई पर गया 
उसने सोचा ये दूसरा कुत्ता कौन है ?
और इसके पास भी हड्डी का वही टुकड़ा है 
उसने बिना सोचे समझे कुत्ते पर आक्रमण कर दिया 
और वह डूबकर मर गया
सीख
सोच समझकर कदम उठाना चाहिए

9 कुत्ते की दादागिरी Panchtantra Ki Kahani In Hindi

एक बार 2 गाये थी वो जैसे ही अपनी नाँद में चारा खाने के लिए आई तो उनको उस जगह पर एक कुत्ता बैठा दिखाई दिया 
सबसे पहले तो गायों ने इशारो से उसे समझाने की कोशिश की लेकिन कुत्ता भोंकने लगा जैसे कि उसका स्वभाव है 
एक बार फिर  गाय ने अपने सिंग से कुत्ते को हटाने की कोशिश की 
तो अबकी बार कुत्ता हड़क गया और जोर से भोकने लगा 
लेकिन वो दुसरो की जगह से उठने के लिए तैयार ही नही था 
गाय ने भी हार मान ली और वो बेलों के पास चली गयी मदद मांगने
अब एक बेल आया और कुत्ते के सामने जोर से गुर्राया कुत्ता उसका बालिष्ठ आकार देखकर वहा से भाग गया 
सीख
दुसरो की चीज पर हमें कभी भी अधिकार नही जताना चाहिए

10 सच्ची माँ 

एक बार एक बालक के लिए दो औरतें झगड़ रही थी वह यह जताना चाहती थी कि यह बालक मेरा है जबकि बालक एक ही मां का हो सकता है दोनों एक बाबा के पास गई और बाबा से पूछा कि बाबा आप हमें न्याय दीजिए बाबा ने कहा ऐसा करिए इस बालक के दो टुकड़े कर दीजिए और एक एक टुकड़ा दोनों महिलाओं को दे दीजिए इतने में जो बालक की असली मां थी वह बिलख बिलखकर रोने लग गई कि नहीं बाबा ऐसा मत करिए मैं अपना अधिकार छोड़ सकती हूं लेकिन यह बालक दूसरी मां को दे दीजिए इतने में बाबा जी को समझ में आ गया कि यही बालक की असली मां है उन्होंने पुत्र को असली मां के पास सौंप दिया 
इस Hindi Moral Stories से हमें सीख मिलती है कि सच्चाई की हमेशा विजय होती है।
आपको Short Hindi Moral Stories कैसी लगी और आप किस तरह की Stories पसन्द करते है कृपया हमें कमेंट के माध्यम से बताए
साथ ही अगर कोई सुझाव हो तो वो भी साझा करें
धन्यवाद
Read more...

10 Short Hindi Moral Stories For Kids || बच्चो के लिए कहानिया 10 Short Hindi Moral Stories For Kids || बच्चो के लिए कहानिया Reviewed by Motivational Keeda on September 25, 2020 Rating: 5

No comments:

Plz do not publish spam comment,yaha koi robot nahi hai comment ko automatically approved kr dega...

Blog Archive

Powered by Blogger.