पत्थर दिल पिघल गया Logo Ki Madad Kariye


गाड़ी का शीशा टूटा पर पत्थर दिल पिघल गया

पत्थर दिल पिघल गया logo ki madad kariye
पत्थर दिल पिघल गया Logo Ki Madad Kariye 




नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है 
आज मैं आपको एक ऐसी कहानी सुनाने वाला हूं 
जिसको सुनने के बाद आपको लगेगा कि हां हमें भी जिंदगी में
 इतना कठोर नहीं बनना चाहिए तो चाहिए
 आपका ज्यादा वक्त खराब ना करते हुए मैं इस कहानी को शुरू करता हूं

 तो एक बार एक अमीर इंसान अपनी आलीशान कार में बैठकर के
 ऑफिस जा रहा था अभी रास्ते में उसने देखा कि काफी सारी
 गाड़ियों की भीड़ जमा है देखा कि कहीं वह अटक कर जाम में
 वह फस गया है तभी उसने देखा कि एक छोटा सा बच्चा दौड़ते हुए 
आ रहा है उसको देख ही रहा था कि अचानक से उसे कुछ समझ नहीं आया
 एक बड़ी सी ईंट  का टुकड़ा उसकी कार से टकराया और
 उसकी कार के शीशे को तोड़ कर के निकल गया


वह यह सब कुछ समझ पाता इससे पहले ही वह गुस्से से आगबबूला हो गया
और उसने आव देखा न ताव उस बच्चे के पूछा कि यह कौन सा 
तरीका है तुम्हारा पत्थर फेंकने का
तो उस बच्चे ने बड़ी ही विनम्रता के जवाब दिया कि मैं क्या करता मैं
 इतनी देर से चिल्ला रहा था मदद के लिए लेकिन
कोई मेरी आवाज सुनने के लिए तैयारी नहीं था तो इसलिए मुझे 
यह तरीका अपनाना पड़ा 


अगर आपको बुरा लगा तो मुझे क्षमा कर दीजिए लेकिन मेरा आपसे एक निवेदन है 
मैंने पत्थर इसलिए मारा था कि अभी कुछ देर पहले एक्सीडेंट में 
मेरे भाई को चोट लग गई और वह इतना भारी है कि
 मैं उसको सड़क से नहीं उठा पा रहा और  उसके शरीर से 
खून लगातार बह रहा है तो उस आदमी ने उसकी मदद की और 
उसको कार में बैठाकर के हॉस्पिटल लेकर गया
 हालांकि कार में काफी धब्बे लग चुके थे  लेकिन इसकी परवाह किए बगैर
 उसने उस बच्चे की हेल्प की और जब डॉक्टर ने आकर कहा कि
 अब इस बच्चे की हालत खतरे से बाहर है तो
 उसे खुशी हुई कि आज उसने अच्छा काम किया है 


जब वह आफिस से घर की तरफ लौट रहा था तो सोच रहा था 
पता नही गाड़ी का कितना नुकसान हुआ है
तो जब घर पहुंचा तो उसने देखा कि वह dent काफी ज्यादा था 
लेकिन उसके दिमाग में यह ख्याल आया कि अब मैं इसे ठीक नहीं करवाऊंगा


यह हमेशा ऐसा ही रहेगा तो मुझे याद दिलाता रहेगा कि 
इतने भी कठोर मत बन जाओ कि ऊपर वाले को तुम्हें बताना पड़े  
कोई  मदद के लिए तुम्हें पुकार रहा है
रियल लाइफ में कभी कभी हम इतना कठोर बन जाते हैं कि 
हम दूसरों की मदद नहीं करते फिर कंडीशन ऐसी आती है कि 
ऑटोमेटेकली हम दूसरों की मदद कर देते है तो
लोगों की मदद करते रहिए
दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है कि यह कहानी आपके दिल को 
जरूर छूकर निकली होगी और यकीन दिलाता हूं आपको 
ऐसी कहानियां मिलती रहेगी
आपका कीमती समय देने के लिए और इस कहानी को 
पढ़ने के लिए दिल से
 शुक्रिया
पत्थर दिल पिघल गया Logo Ki Madad Kariye  पत्थर दिल पिघल गया Logo Ki Madad Kariye Reviewed by Admin on March 19, 2020 Rating: 5

No comments:

Plz do not publish spam comment

Blog Archive

Powered by Blogger.