सफल होने के लिए काम मे डूब जाओ Dedication on your passion

सफल होने के लिए काम मे डूब जाओ Dedication on your passion


सफल होने के लिए काम मे डूब जाओ Dedication on your passion
सफल होने के लिए काम मे डूब जाओ Dedication on your passion

Dedication on your passion

"सफल होने के लिए काम मे डूब जाओ|
क्योंकि पागल लोग  ही इतिहास रचते है 

जितने भी सफल लोगों की motivational stories पढ़ने को मिली
लेकिन एक ही बात निकलकर सामने आई
जानते हो क्या??? ???
"काम मे डूबना "
एक एक करके आपको उदाहरण बताता हूं।

जाकिर हुसैन
मशहूर तबला वादक
2 साल तबला बजाने के बाद बोलते की
मजा नही आ रहा कुछ और करते है,
लेकिन नही sir 

ये लोग अपने काम मे इतना डूब गए क्योंकि,इनको
सफलता के अलावा कुछ और मंजूर ही नही था
हो सकता है यही सफलता की चाबी हो
और  जब इन्होंने अपने field में कदम रखा होगा या फिर जब इनकी शुरुवात थी तब इनका अपने काम के ऊपर कितना भरोसा था??
99 प्रतिशत
नही sir पूरा का पूरा 100 प्रतिशत क्योंकि इनको विश्वास था अपने स्वयं के ऊपर
सचिन तेंदुलकर
को कितना भरोसा था?
कि उनका career cricket
में ही है।
एक बार भी उनको यह नही लगा होगा कि
इनका passion कुछ अलग है।
ये सब काम मे डूबे हुए लोग थे।

अब आपको ये तो समझ मे आ गया होगा कि
सफलता के लिए सबसे जरूरी चीज सिर्फ यही है
अपने काम मे डूबना
आपको एक और जबरदस्त motivational story बताता हूं ।

तकरीबन 8 या  9 दशक पहले
एक movie बनी थी
मुग़ल ए आजम
आपको याद होगा
नौशाद अली जी ने इस पर music दिया था
और 16 साल लगा दिए
इतना dedication यानी कि समर्पण
अपने काम मे जिसे भी होता है
सफलता उनके कदमो में होती है।

लेकिन जब movie बनकर तैयार हुई तब
कितनी superhit हुई थी इसीलिए चर्चा आज भी हो रही है
लेकिन क्या उसको बनाने में दिक्कत नही आयी होगी ??
जरूर आयी थी, 

गाने का एक seen था जिसमे तानसेन गा रहा है वो दृश्य फिल्माया जाना था,
लेकिन उस जमाने मे तानसेन जैसा गायक मिलना असंभव था
उन्होंने पूछा ये गाना कौन गा सकता है??
उनके साथी ने बताया कि
ये गाना बड़े गुलाम अली खान साहब गा सकते है,
लेकिन वो movie के लिए गाना नही गाते
वो बोले मुझे लेकर चलो उनके पास
और जब वो गए तो उनकी बातचीत हुई
कि कैसे आना हुआ ??

उन्होंने बता दिया कि आपसे गाना गवाना चाहते है
लेकिन खान साहब बोले मैं movie के लिए गाने नही गाता
नौशाद अली उस वक्त सिगार पी रहे थे
तो कश खींचते हुए बोले कि गाना तो आप ही गाएंगे !!
एक बार समझाया नही माने
फिर से कश लिया और बोले
गाना तो
आप ही गाएंगे !!!

खान साहब बोले कैसे बदतमीज इंसान हो
उन्होंने कहा कि इनको समझाओ
मैं गाना तो नही गाता फिल्मो के लिए
और उस जमाने मे  500 rs प्रतिमाह मिलते थे
एक सिंगर को
खान साहब बोले 50000 लूंगा
नौशाद अली ने सिगार का कश लेते हुए
10000 की गड्डी निकाली और फिर बोले
गाना तो आप ही गाएंगे !!!

मान गए sir
क्योंकि उनको मालूम था
Best के साथ समझौता नही कर सकते
आखिरकार गाना गवा ही दिया बड़े गुलाम अली खां साहब से 

इतना dedication और आत्मविश्वास था उनको उस मूवी के ऊपर
जी जान से लगे रहे और 16 साल लगा दिए
और हम कितनी जल्दी हार मान लेते है ।
मजबूत इच्छाशक्ति से सफल हुआ जा सकता है 

काफी कुछ सिखाती है ये
Motivational story
आज भी ये बात कही जाती है कि
नौशाद अली जी की हाथो की अंगुलियों के बीच की जगह जली हुई थी
सिगार पीते पीते सिगार
खत्म हो जाती थी मगर
ध्यान साला
जहा लगा रखा होगा वहा से हटता नही था 

कुल मिला के ऊपर लिखी सारी बातों का एक ही सार है
जो अपने काम मे डूब जाता है
उसको सफलता मिलनी निश्चित है
और अब तो आपको भी विश्वाश हो गया होगा कि
मैने जो शीर्षक दिया है वो बिल्कुल सही है।

मुझे पूरी उम्मीद है कि
इस लेख से आपको भी ऊर्जा मिली होगी
और आप भी आज से अपने काम में डूब जाएंगे
अगर आपके कोई सुझाव हो तो comment के माध्यम से हमे जरूर बताएं
और अच्छा लगा हो तो
आप दूसरों के साथ शेयर करिये
अंततः इस motivational story  को पढ़ने के लिए और आपका कीमती समय देने के लिए दिल से
शुक्रिया।


इन्हे भी तो पढ़कर देखिये हो सकता है आपको इसी की जरुरत हो 


सफल होने के लिए काम मे डूब जाओ Dedication on your passion सफल होने के लिए काम मे डूब जाओ Dedication on your passion Reviewed by Admin on March 26, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.